Strong Amal To Protect Yourself From Aaseb And Jinnat

Strong Amal To Protect Yourself From Aaseb And Jinnat

Strong Amal To Protect Yourself From Aaseb And Jinnat,”If a person has influence of a jinn or a ghost, read Chahal Kaf Sharif 11-11 times in both his ears. This has been implemented Aaseb Jinn Protect Amal.

Aaseb Wale Ka Kamyab ilaj:

  1. Write it in the neck of a person who has the influence of a jinn or ghost witch,
  2. And after reading seven times, including Bismillah.
  3. To succeed on the patient is successful.
  4. Inma s-n-oo kayedu sahirin vala hiluskaahiru hesu ana.
  5. ma hua sana hua ma abrahu ma ahain ashara hayan.

Protection from Aasmani Balaye:

If a person is surrounded by children, then he should pray Namaz Fajr and after Isha’s Namaz one hundred times.
‘Or Dafilul Baliyat’
Read Darud Sharif 11-11 times before and after.

Aaseb Ka Jalane Ka Naksh:

Make the following map a fruit and wrap cotton in a lamp of sweet oil and light it in front of the aspirant.
The map is
H the 11 the j 11 the j
Bad temper
Prevention from gene – Surah: Read the first 6 verses of the genie, and suffocate the patient, and sprinkle this water on the patient’s face and drink it, the effect of inshallah genie will go away.

Map of burning Evil And Ghosts:

Write the map and put it in the neck around the dead or woman who has a lot of phantom effect. The orders of Allah will end the twenty souls.

Jinnat And Aaseb Ka Asar In Hindi:

यदि किसी आदमी पर जिन्न या भूत का असर हो तो उसके दोनों कानो में चहल काफ शरीफ ११-११ बार पढ़कर दम करे। यह अमल आजमाया हुआ है।

आसेब वाले का कामयाब इलाज

जिस आदमी पर जिन्न या भूत चुड़ैल का असर हो उसके हो उसके गले में यह लिखकर डाल दे और बिस्मिल्लाह सहित सात बार पढ़कर रोगी पर दम करे कामयाब अमल है।
इन्नमा स-न-ऊ कयदू साहिरिन वला हीलुस्सकाहीरु ह्यसु एना मा हुवा साना हुवा माँ अबरहु मा आह्यन अशरा हयन।

आसमानी बालाओं से बचाव

यदि कोई आदमी बालाओं में घिर जाये तो उसे चाहिए रोज नमाजे फज्र और ईशा की नमाज के बाद एक सौ एक बार पढ़ा करे।
‘या दाफिलुल बलिययात’
पहले व बाद में ११-११ बार दरूद शरीफ पढ़े।

आसेब का जलने का नक्श:

निचे दिए गए नक्श को फलिता बनाये और मीठे तेल के चराग में रुई लपेट कर आसेब वाले के सामने रोशन करें आसेब जल जायेगा।
नक्श यह है
ह द ११ द ज ११ द ज
बिहक्क़ या बदु तकफ़ील

जीन से बचाव –

सुरः जिन्न की पहली ६ आयते पढ़ कर रोगी पर दम करे और यही आयते पानी पर दम करके रोगी के चहरे पर छिड़क और पिलाये इंशाल्लाह जिन्न का असर दूर हो जायेगा।
बहुत प्रेत को जलाने का नक्श –
जिस मर या औरत पर बहुत प्रेत का असर हो यह नक्श लिखकर और मोमजामा में करके उसके गले में डाल दे। अल्लाह के हुक्म से खबीस रूहों का खत्म हो जायेगा

कोई भी अमल बिना इजाजत के न करे मौलाना जी की इजाजत जरुरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.