Jinn Ka Amal Karne Ka Tarika

Jinn Ka Amal Karne Ka Tarika

Jinn Ka Amal Karne Ka Tarika

Jinn Ka Amal Karne Ka Tarika, “Whose pictures or these came for implementation are very effective. All you need is to burn the oud by appearing in an empty house and draw a line from your gift, and give these verses with a sincere heart 7 times (Jinn Ka Amal), after which give them the gift of Allah, and the gin and the spot will be there, and they will do it. Do this practice every night continuously. Do all kinds of avoiding Jamali, Jalali, and keep your heart strong and not afraid. Inshallah means complete.

Jinn Bulane Ka amal:

Vyalun valikullee ifaakeen aleem yamu aaya tullaahi tutala alaihi lahoo lahum musheer kaana ilamun min hatina ​​shyaanal haza ha hujuvan laham yamauha phabashisharu bi ajaabin aleem va vaasu hansata hansata aur hansata hansata hansata hansata hansata hansata hai. va lahum azaboon ajeem. Jinn Ka Amal.

Jinnat Ko Bulane Ki Dua – :

Anyone who has the influence of Asif or Chudel that I have been riding ever since then after reading this ajimat 3 times by overpowering it. Give him a drink. If you do not drink, then splash on his mouth. Even he will speak and burn, and if he dies(Jinn Ka Amal), what blessings do you love, and burn, and put it in front of him to see it and if you do not see it, then take the light in the hand, and burn it in his nose. , Then if the Jindia witch is affected, it will run away with water.

How To Call Jinn :

Ajmat Alaqub Birbab Jibril and Michail and Israfil and Israeli Asakhanlji J-a-f Arshi Ajmut Alaikum Bilji Azai Ezhab Ishu bin bin Maryam Vasyadin Biruhil Qudus Ajmatu Alaqum Sulaiman Sulayman bin Dawood Alaih Jinnah Al-Sakhi Jah al-Sikh. Jinn Ka Amal.

Note:- The rogan in which this fruit is lit is Rogan Park and Rogan is bitter, even if magic happens, inshallah will be lost.

जिन्नात को बुलाने की दुआ इन हिंदी :

जिनकी तस्वीर या अमल के लिए यह आए थे बड़ी असर वाली हैं। आपको चाहिए यह की एक खाली मकान में हाजिर होकर अउद जलाएं और अपने गिफ्ट एक रेखा खींचे, और इन आयतों को सच्चे दिल से 7 बार पड़े इसके बाद इनको अल्लाह की सौगंध दें, और (Jinn Ka Amal)जिन्न और हाजिर होगा, और ताबेअदारी करेगा। यह अमल हर रात लगातार करें। हर तरह का परहेज जमाली वह जलाली करें, और दिल मजबूत रखें और ना डरे। इंशाल्लाह मतलब पूरा होगा।

जिन्नात को बुलाने की दुआ :

व्यलुन वलिकुल्ली इफ़क़ीन अलीम यसमअउ आया तुल्लाहि तुतला अलैहि लहू लहुम मुशीर काना इलमुन मिन आयातिना श्यानल हज़ा हा हुजुवन लहुम यसमऊहा फबशिशरहु बि अजाबिन अलीम व वा इलै हुन(Jinn Ka Amal) लहुम अज़बून मोहिंन मिन वराईहिम जहन्नम वला यूनस अन्हुम मा लैसा शयअन वला सददू नाहजा व मिन इनि अलैहि अवलियाई व लहुम अज़बून अजीम।

जिन्न व् आसेब के दफअ के लिए :

जिस किसी को जिनमें आसिफ का असर हो या चुडेल कि मैं कभी सवार हो उसके बाद से यह अजीमत 3 बार पढ़कर पानी के ऊपर दम करके। उसे पिला दे। यदि न पिएं तो उसके मुंह पर छींटे मार दे। यहां तक कि वह बोलेगा और जल जाएगा, और यदि इन्हें मरता हो तो किस दुआ काम प्रीता करें, और जलाएं(Jinn Ka Amal), और उसके सामने रखें कि उसे देखें और यदि न भी देखें, तो पलीता जला कर हाथ में लेकर, उसकी नाक में धुनि देवे, तो यदि जिंदिया चुड़ैल का असर होगा, तो वह जल कर भाग जाएगा।

वह Jinn Ka Amal अजीमत यह है-

अजमत अलैकुब बिरब्ब जिबरील व मीकाईल व इसराफिल व इजराईल असखनल्ल्जी ज-अ-फ अर्शी अजमुत अलैकुम बिल्ल्जी अजाई इजहब लहू ईसा बिन मरयम वसस्यादिन बिरुहिल कुदुस अजमतु अलैकुम सुलेमान बिन दाऊद अलैहि अल्ल्जी सख्ख-र-लहुरृ याह वल जिन्नि वशशैताना रुरीआ।

नोट:- जिस रोगन में यह फलिता जलाया जाए, वह रोगन पार्क और रोगन कड़वा हो, यदि जादू भी होगा तो इंशाल्लाह दफअ होगा।

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *